in ,

मेरे दादाजी ने खंडवा में धुनी रमायी रे लिरिक्स | Mere Dadaji Ne Khandwa Me Dhuni Ramayi re Lyrics

हम आपको दादाजी का एक फेमस भजन सुनाने वाले हे जिसके बोल हैं Mere Dadaji Ne Khandwa Me Dhuni Ramayi re भजन अच्छा लगे तो शेयर करें।

Mere Dadaji Ne Khandwa Me Dhuni Ramayi re

मेरे दादाजी ने खंडवा में धुनी रमायी रे
धुनी रमायी रे अखंड ज्योत जलई रे

देखो पैदल चल के आये रे देखो धुनी रमायी रे
जहाँ धुनी रमायी रे अखंड ज्योत जलई रे
मेरे दादाजी ने खंडवा में धुनी रमायी रे

देखो निशान लेके आये रे जहाँ धुनी रमायी रे
जहाँ धुनी रमायी रे अखंड ज्योत जलई रे
मेरे दादाजी ने खंडवा में धुनी रमायी रे

गुरु पूनम मेला लागे रे जहाँ धुनी रमायी रे
जहाँ धुनी रमायी रे अखंड ज्योत जलई रे
मेरे दादाजी ने खंडवा में धुनी रमायी रे

भक्त करते है भंडारे रे जहाँ धुनी रमायी रे
जहाँ धुनी रमायी रे अखंड ज्योत जलई रे
मेरे दादाजी ने खंडवा में धुनी रमायी रे

मेरे दादाजी ने खंडवा में धुनी रमायी रे लिरिक्स
Mere Dadaji Ne Khandwa Me Dhuni Ramayi re Lyrics

Written by admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दादाजी मंदिर के सेवादारी की मिली खून से सनी लाश

नेत्र संक्रमण (Conjunctivitis) की रोकथाम के लिये जन-जागरूकता हेतु निर्देश।