Sunday, April 11, 2021
Home गैलरी नितिन ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया।

नितिन ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया।

पिछले 40 सालों से बर्तन व्यापार से जुड़े गेंदालाल राठौर को उनके बेटे नितिन ने 4 दिन पहले इंदौर के ग्रेटर कैलाश हॉस्पिटल में एडमिट कराया राठोर परिवार की श्री शक्ति मेटल और विवेक मेटल नाम से बहुत पुरानी फर्म खंडवा में पिछले 40 साल से गेंदालाल राठौर खंडवा में लोगों की बरतन मार्केट में सेवा कर रहे हैं उन्होंने बताया कि उनके पिताजी को फेफड़े का कैंसर था और  वे कोविद पेशेंट नहीं थे लेकिन केंसर के ट्रीटमेंट के लिए उन्होंने अपने पिताजी को इंदौर के ग्रेटर कैलाश हॉस्पिटल में एडमिट कराया इंदौर की ग्रेटर कैलाश हॉस्पिटल में एडमिट कराएं हॉस्पिटल प्रबंधन ने उन्हें कोविड-19  मरीज बताते हुए बच्चों के एसेंशियल वार्ड में जबरदस्ती उन्हें एडमिट किया, गेंदालाल राठौर के बेटे नितिन राठौड़ के अनुसार उनके पिताजी की हालत ठीक थी और सफर के चलते वह जरूर थकान महसूस कर रहे थे देर रात उनके बेटे नितिन राठौड़ के पास हॉस्पिटल प्रबंधन ने फोन किया कि उनके पिता की हालत बेहद नाजुक है उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया इस बात को सुनकर  नितिन आश्चर्य चकित हो गया कि उनके पिता जी बिल्कुल ठीक थे


नितिन अस्पताल तक पहुंचता उनके पहले ही उन्हें खबर दी गई कि उनके पिता जी दुनिया छोड़कर चले गए गेंदालाल राठौर अब नहीं रहे।
  राठौर जी के शव को पूरा पैक करके उन्हें हैंड ओवर कर दिया गया उसे 80 किलोमीटर दूर  ले आये तभी ग्रेटर कैलाश हॉस्पिटल के प्रबंधन का फोन आता है कि उनके पिता की बॉडी एक्सचेंज हो गई है और उनके पिताजी की जगह 80 साल के एक कोविड-19 पेसेंट जो मऊ के रहने वाले हैं उनका शरीर उन्हें सौंप दिया गया है जिससे बदली करना चाहते हैं इस बात पर नितिन राठौड़ पहले ही अपने पिता के दुनिया छोड़कर जाने पर बेहद दुखी थे, उसके बावजूद इस तरह की गंभीर लापरवाही ने उन्हें और बेहद दुखी कर दिया आपको बता दें कि सनावद के पास ग्रेटर कैलाश हॉस्पिटल की गाड़ी आयी और काफी मशक्कत के बाद शव उन्हें वापस कर दिया गया।
नितिन ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

नागचून तालाब | नागचून वाटरपार्क | खंडवा टूरिज्म

नागचुन तालाब निर्माण - खंडवा जिले में पानी सप्लाई के लिए नागचून तालाब का निर्माण अंग्रेजों ने करवाया था, सबसे पहले नागचून तालाब से पानी लाल चौकी पर स्थित फिल्टर प्लांट में आता है एवं यहां से फिल्टर होकर शहर के विभिन्न वार्डों में सप्लाई किया जाता है वैसे तो अब नर्मदा जल योजना से शहर में पानी की पूर्ति हो जाती है इसलिए अब आपातकालीन स्थिति में ही Nagchoon Dam का पानी लिया जाता है।

खंडवा मैराथन [Khandwa Marathon] के लिए अब आनलाइन रजिस्ट्रेशन चालू

28 फरवरी को होने वाली खंडवा मैराथन जो कि भंडारी पब्लिक स्कूल व दैनिक भास्कर द्वारा आयोजित की जा रही है, इसमे ऑनलाइन...

खंडवा में शिवजी महाराज की जयंती पर निकाली गई रैली ।

पूरे देश मे धूमधाम से शिवाजी महाराज की जयंती मनाई गई, खंडवा में तपाल चाल पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें हिंदू...

हनुमंतिया पर्यटन स्थल में आज पैराग्लाइडिंग करते वक्त दुर्घटना में दो की मौत।

मध्य प्रदेश का गोवा कहे जाने वाले हनुमंतिया पर्यटन स्थल में जल महोत्सव में आज (बुधवार) शाम पैराग्लाइडिंग करते वक्त हादसा हो...

Recent Comments